TTL-Completed

वस्त्र परीक्षण

 

हाल ही में समाप्‍त परियोजनाएं

1) शीर्षक : तसर वस्‍त्र और उपचारात्‍मक उपायों की कमजोर आयामी स्थिरता के लिए कारणों पर जांच करना

इसमें शामिल वैज्ञानिक : जी तिम्‍मा रेड्डी, एच.एच शंभु‍लिंगप्‍पा और अरिंदम बसु

परिणाम :

(।) यह निष्‍कर्ष निकाला गया था कि सिकुड़न मुख्‍य रूप से ताना (बहुत पतली) और बाने (बहुत मोटी) डेनियर के उपयोग में असंतुलन कारण था (।।) एण्‍डस व पिक्‍स/इंच जैसे निर्माण विवरण का, ऐंठन तसर वस्‍त्र के सिकुड़न कम करेंगे (।।।) वाष्पित धागा सिकुड़न 8-9% है, अत: बुनाई प्रक्रियामें वाष्पित धागे का उपयोग आंशिक रूप से तसर वस्‍त्र के संकुचन % कम करता है (।V) दूसरी धुलाई के बाद बीटीसीए उपचार से संकोचन लगभग 0% तक पाया गया। आगे, इससे तसर वस्‍त्र में चुन्‍नटें कम (क्रीज) एवं अधिक टिकाऊ (टेरिंग स्‍ट्रेन्‍ग्थ में काफी सुधार) बनी है। टेंसाइल गुण पर कोई प्रभाव नहीं था।  निर्धारण होगा।